Saturday , May 21 2022

पबजी गेम को लेकर 11 साल के बच्चे की हत्या

गुजरात : पबजी गेम का भूत लोगों के दिमाग से उतरने का नाम नही ले रहा है. अभी तक हमने सुना था कि पबजी गेम में बताए गए टास्क और स्टंटों ने कई बच्चों की जान ले ली, लेकिन गुजरात में तो एक नया ही मामला सामने आया है. पांडेसरा में पबजी गेम खेलने के झगड़े में 19 साल के युवक ने 11 साल के नाबालिग की गला घोंटकर हत्या कर दी है. पांडेसरा पुलिस ने आशंका के आधार पर एक युवक से पूछताछ की तो राज खुला.

शव छिपाया पलंग के नीचे

जानकारी के अनुसार झारखंड का मूल निवासी और जीवनदीप सोसाइटी में रहने वाले अमन ने 11 साल के आकाश तिवारी की हत्या करके शव को पलंग के नीचे चादर में छिपाकर रख दिया और घर से बाहर चला गया. अमन ने नाबालिग का चप्पल बोरी में छिपा दिया. हत्यारे का रूम पार्टनर सोनू रात में नौकरी करके वापस आया, खाना बनाकर खाने के बाद सोने के लिए पलंग के नीचे से चादर निकाली तो शव देखकर घबरा गया और पडोसियों को बुलाया.

मृतक के घर से आरोपी का घर 30 से 40 मीटर की दूरी पर

परिजन हत्यारे के घर के आसपास ही बेटे को खोज रहे थे. हत्यारा भी उनके साथ हो लिया और तलाश में जुट गया, ताकि किसी को उस पर शक न हो. मृतक के घर से आरोपी का घर 30 से 40 मीटर की दूरी पर है. हत्यारे ने रूम पार्टनर के सोने के बाद रात में शव को ठिकाने लगाने की पूरी योजना बना रखी थी.

तीन महीने पहले ही हम घर बदलकर यहां रहने आए

नाबालिग की मां ने बताया कि सुबह 11 बजे मैं खाना बना रही थी. आकाश नहाकर तैयार हो गया. आकाश ने कहा कि पराठा बना कर रखना दो मिनट में आता हूं. इतना कहकर चला गया. देर तक आकाश नहीं आया तो चिंता होने पर सभी लोग उसे खोजने लगे. तभी रात 11 बजे अमन के घर से आकाश का शव मिला. मां ने बताया कि लॉकडाउन में तीन महीने पहले ही हम घर बदलकर यहां रहने आए थे. मैंने कई बाद आकाश को पुराने घर की ओर से जाने से मना किया था, पर वह नहीं माना.

छोटी-छोटी बातों पर हाथ काट लेता था आरोपी

पड़ोसी अमित ने बताया कि आरोपी अमन पहले ऊपरी मंजिल पर रहता था और आकाश उसका पड़ोसी था. तीन महीने पहले ही अमन नीचे के कमरे में रहने आया है. आकाश का परिवार दूसरी जगह चला गया. वहीं एक अन्य पडोसी चिंटू ने बताया कि अमन छोटी-छोटी बात पर अपना हाथ काट लेता था. ऐसी हरकतें वह कई बार कर चुका है.

गुस्से में गला दबाकर हत्या कर दी

पुलिस पूछताछ में आरोपी अमन ने बताया कि आकाश पबजी गेम खेलते समय उसके मोबाइल से कॉइन ट्रांसफर कर रहा था. इसी गुस्से में गला दबाकर हत्या कर दी. इसके बाद शव को बेड के नीचे छिपा दिया और किसी को शक न हो इसलिए परिवार के साथ तलाश करता रहा. उसने बताया कि रूम पार्टनर के सोने के बाद रात में वह शव को ठिकाने लगाने वाला था लेकिन उसका राज खुल गया.

डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. गणेश गोवेकर ने बताया

सिविल अस्पताल के फॉरेंसिक डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. गणेश गोवेकर ने बताया कि मृतक के गुप्तांग में चोट के निशान नहीं पाए गए हैं. हालांकि सैंपल लेकर जांच के लिए भेज दिए गए हैं. मृतक के साथ कुकर्म होने की अभी तक पुष्टि नहीं हुई है. सैंपल में पता चलेगा कि नींद की दवा या जहर दिया गया था या नहीं. शरीर पर चोट के निशान नहीं हैं.

Leave a Reply