Saturday , May 21 2022

दिल्ली कैपिटल्स के लिए मिडिल आर्डर पर बैटिंग कर सकते हैं रहाणे

दुबई : भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान और अब आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स की टीम का अहम हिस्सा बने अजिंक्य रहाणे अगले महीने से शुरू होने वाले आईपीएल में दिल्ली कैपिटल्स के लिए मध्यक्रम पर बल्लेबाज़ी कर सकते हैं। रहाणे को क्रिकेट के सबसे छोटे फोर्मेट यानि टी20 में पारी का आगाज करना पसंद है, लेकिन इस साल आईपीएल में  दिल्ली कैपिटल्स उनको ओपनिंग की जगह पर फिनिशर की भूमिका दे सकती हैं। क्योंकि दिल्ली की टीम में ऐसे कई बल्लेबाज़ है जो ओपनर की भूमिका निभा सकते हैं। जिसके चलते  रहाणे को अपनी जगह छोड़ते हुए फिनिशर की भूमिका निभानी पड़ सकती है।

राजस्थान और मुंबई के लिए कर चूके है ओपनिंग

दिल्ली कैपिटल्स के लिए मिडिल आर्डर पर बैटिंग कर सकते हैं रहाणे
दिल्ली कैपिटल्स के लिए मिडिल आर्डर पर बैटिंग कर सकते हैं रहाणे

रहाणे दिल्ली से पहले राजस्थान और मुंबई की टीम का अहम हिस्सा रह चूंके हैं। रहाणे 2008 से लेकर 2011 तक मुंबई के लिए कोई मौकों पर ओपनिंग करने आते थे। 2012 के बाद रहाणे राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा थे जहां होने रॉयल्स की कप्तानी भी संभाली थी।
रहाणे ने अपना अंतर्राष्ट्रीय कैरियर एक ओपनर बल्लेबाज़ के रूप में ही शुरू किया था। रहाणे से टीम में उनकी भूमिका के बारे में पूछने पर, उन्होंने कहा, ‘मैं नहीं जानता। हमें इंतजार करना होगा क्योंकि अभी हमें अभ्यास सत्र शुरू करना है और तभी इस पर बात होगी।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने पूरे करियर के दौरान पारी का आगाज किया और मैंने इसका पूरा लुत्फ उठाया,लेकिन यह पूरी तरह से टीम प्रबंधन पर निर्भर करेगा कि वह टीम में मुझे क्या भूमिका देना चाहते हैं।मैं वह भूमिका शत प्रतिशत निभाऊंगा।’

नई भूमिका के लिए हूँ तैयार

टी20 क्रिकेट में 196 मैचों में 4988 रन बनाने वाले रहाणे ने कहा, ‘अगर मुझे नंबर पांच या छह पर बल्लेबाजी के लिये कहा जाता है तो निश्चित तौर पर ऐसा करना चाहूंगा क्योंकि यह मेरे लिये नयी भूमिका होगी और इससे मुझे अपना खेल को विस्तार देने में मदद मिलेगी। इसलिए अगर आप मुझसे पूछते हो तो मेरा जवाब हां होगा, मैं तैयार हूं।’

वर्ल्ड कप का हिस्सा बनने की थी चाह

2019 में इंग्लैंड में हुए वर्ल्ड कप को लेकर रहाणे ने कहा वह वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा न होने को लेकर निराश हैं। उन्होंने कहा, ‘मेरा वास्तव में मानना है कि मुझे विश्व कप में नंबर चार बल्लेबाज के तौर पर होना चाहिए था। यह अब अतीत की बात है और लक्ष्य वनडे टीम में वापसी करना और सीमित ओवरों की क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करना है। ‘

Leave a Reply