Friday , August 12 2022
राहुल गांधी फिर संभाल सकते हैं पार्टी की कमान
राहुल गांधी फिर संभाल सकते हैं पार्टी की कमान

राहुल गांधी फिर संभाल सकते हैं पार्टी की कमान

नई दिल्ली। कांग्रेस में अध्यक्ष पद को लेकर मचे घमासान के बीच कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्लूसी) की बैठक शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई। इसमें तय हुआ कि संगठन के चुनाव मई में होंगे। इसमें पार्टी का अध्यक्ष भी चुना जाएगा। माना जा रहा है कि राहुल गांधी दोबारा कांग्रेस की कमान संभाल सकते हैं।

बता दें कि 2019 में हुए लोकसभा चुनाव के बाद राहुल गांधी ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सोनिया गांधी ने बतौर कार्यकारी अध्यक्ष फिर पार्टी की कमान संभाली थी। कांग्रेस नेताओं का एक गुट फुलटाइम और एक्टिव प्रेसिडेंट चुनने की मांग कर रहा है। गांधी परिवार से अलग अध्यक्ष बनाने की मांग भी उठती रही है।

सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा

सीडब्लूसी की बैठक को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने किसान आंदोलन को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि किसान मुद्दे पर सरकार ने जो अमानवीयता और गुरूर दिखाया, वह चौंकाता है। उन्होंने कहा कि कृषि कानूनों को जल्दबाजी में पास किया। संसद में इन्हें ठीक से समझने का मौका नहीं दिया गया।

राष्ट्रवाद का सर्टिफिकेट देने वाले बेनकाब हुए

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार पर अर्नब गोस्वामी के व्हाट्सएप चैट लीक पर हमला बोला है। सोनिया गांधी ने कहा कि टीवी एंकर अर्नब गोस्वामी का बालाकोट एयर स्ट्राइक पर जो व्हाट्सएप चैट लीक हुआ है, उसपर सरकार की चुप्पी शोर मचा रही है। सोनिया गांधी ने आरोप लगाया देश की सुरक्षा के साथ समझौता हुआ है। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में बोलते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि हाल ही में जिस तरह से देश की सुरक्षा के साथ समझौता हुआ है वह बहुत ही चिंता का विषय है। मुझे लगता है कि कुछ दिन पहले एंटनी जी ने कहा था कि देश की सेना के आधिकारिक मैसेज को लीक करना गद्दारी है।

लेकिन बावजूद इसके जो चैट लीक हुई है उसपर केंद्र सरकार की चुप्पी शोर मचा रही है। सोनिया गांधी ने कहा कि जो लोग राष्ट्रवाद और देशभक्ति के सर्टिफिकेट देते थे आज वो पूरी तरह से बेनकाब हो चुके हैं। बता दें कि मुंबई पुलिस ने हाल ही में कोर्ट में टीआरपी स्कैम को लेकर जो चार्जशीट दायर की है उसमे व्हाट्सएप पर लीक हुए मैसेज को भी दायर किया गया है। यह लीक रिपब्लिक टीवी के एंकर अर्नब गोस्वामी और रेटिंग एजेंसी बार्क के पूर्व सीईओ पार्थो दासगुप्ता के बीच है।

क्या पार्टी नेतृत्व पर भरोसा नहीं?

बैठक में राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और कांग्रेस के बड़े नेता आनंद शर्मा के बीच बहस होने की खबर है। अशोक गहलोत ने असंतुष्ट नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि बार-बार चुनाव की मांग जो नेता कर रहे हैं क्या उन्हें पार्टी नेतृत्व पर भरोसा नहीं है, वहीं आनंद शर्मा ने सीडब्ल्यूसी सदस्यों का चुनाव करवाने की मांग उठाई। गहलोत ने कहा कि देश में कई गंभीर मुद्दे हैं, उस पर ध्यान देना जरुरी है। पार्टी में चुनाव बाद में भी हो सकते हैं। चुनाव की मांग करने वालों को गहलोत ने फटकार लगाईं है।

Leave a Reply