Friday , August 12 2022

प्रधानमंत्री मोदी पर बरसे राहुल, कहा – पीएम करतें है अडाणी-अंबानी के लिए काम

पटना: बिहार में जैसे-जैसे मतदान का समय पास आता जा रहा है, वैसे-वैसे बिहार की राजनीति का माहौल भी गर्म होता जा रहा है। शुक्रवार को जहां प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार में जनसभाएं करते हुए कांग्रेस और बिहार में पूर्व की लालू सरकार को आड़े हाथों लिया तो वहीं कांगेस के पूर्व अध्यक्ष और पार्टी के स्टार प्रचारक राहुल गांधी ने बिहार में नवादा के हिसुआ में अपनी पहली सभा में प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, ‘मोदी जी के भाषण कैसे लगे आपको। नरेंद्र मोदी जी ने कहा कि बिहार के जो सैनिक शहीद हुए, उनके सामने सिर झुकाते हैं। मगर सवाल दूसरा है। जब बिहार के युवा सैनिक शहीद हुए, उस दिन के प्रधानमंत्री ने क्या कहा और क्या किया।’

उन्होंने आगे कहा, ‘वे सिर तो आपके सामने झुकाते हैं, काम किसी और के आएंगे। नोटबंदी हुई, इसका फायदा किसे हुआ? आपने पैसा बैंक में डाला, वो कहां गया। आपका पैसा देश के सबसे अमीर लोगों की जेब में गया। क्या अडाणी-अंबानी बैंक के सामने खड़े दिखे।’

राहुल ने क्या कहा अपने भाषण में

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा, ‘मैं लद्दाख गया हूं, वहां हिंदुस्तान की सीमा है। वहां यूपी-बिहार और बाकी प्रदेशों के युवा खून-पसीना देकर देश की रक्षा करते हैं। वहां माइनस में टेम्परेचर है। वहां पोस्ट तक पहुंचने के लिए 10 दिन तक पैदल चलना पड़ता है। सवाल ये है कि चीन ने हमारे सैनिकों को मारा, 1200 किमी की जमीन ली, तो प्रधानमंत्री ये क्यों कहा कि चीन का कोई भी सैनिक हमारे देश के अंदर नहीं घुसा। मोदी जी, चीन के जो सैनिक हमारे देश के अंदर घुसे हुए हैं, उन्हें कब बाहर निकालोगे। यहां आकर बिहारियों से झूठ मत बोलिए। बताइए कि उन्हें रोजगार कब देंगे। पिछली बार कहा था कि 2 करोड़ रोजगार देंगे। किसी को रोजगार मिला। अब कहते हैं कि सेना, किसान, मजदूर के सामने मैं सिर झुकाता हूं। घर जाते हैं तो अडाणी-अंबानी का काम करते हैं।’

किसानों पर आक्रमण करने के लिए बनाए हैं कानून

राहुल गांधी ने किसान बिल से जुड़े मुद्दे पर पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी जी ने किसानों पर आक्रमण करने के तीन कानून बनाए। मंडी खत्म की, एमएसपी खत्म की, ये पूरे देश में करने जा रहे हैं। ये झूठ बोलते हैं। एयरपोर्ट, रेलवे लाइन जो भी उनको चाहिए, नरेंद्र मोदी उनके लिए लेता है। अब चाबी मोदी जी, नीतीश जी नहीं, आपके हाथ में है। कोरोना हुआ, मोदी जी ने कहा कि 22 दिन में लड़ाई जीती जाएगी। बिहार के मजदूरों को दिल्ली समेत सब प्रदेशों से पैदल भगाया। क्या उन्होंने किसी मजदूर की मदद की। कहते हैं कि मजदूर की सामने सिर झुकाते हैं। आप भूखे-प्यासे हजारों किमी चले, मोदी ने आपको ट्रेन दी। मोदी ने कहा कि भूखे-प्यासे चलो, मुझे फर्क नहीं पड़ता। मुझे भरोसा है कि इस बार बिहार सच्चाई को पहचानने जा रहा है, मोदी-नीतीश को जवाब देने जा रहा है।’

तेजस्वी ने फिर दोहराई 10 लाख सरकारी नौकरी देने की बात

बिहार में महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने एक बार फिर सरकार बनते ही 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी देने का वादा किया। उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद सरकारी नौकरी के लिए भरे जाने वाले फॉर्म की फीस माफ कर देंगे। एक्जाम सेंटर तक जाने का किराया भी देंगे। आशा वर्कर, विकास मित्र जैसे साथियों का मानदेय चार हजार रुपए करेंगे। वृद्धावस्था पेंशन को 400 से बढ़ाकर एक हजार रुपए करेंगे।

 

 

Leave a Reply