Saturday , May 21 2022

रेलवे ई टिकट के अवैध कारोबार का हुआ भंडाफोड़

आजमगढ़। रेलवे के ई टिकट के अवैध कारोबार का हुआ भंडा फोड़, आरपीएफ टीम को मिली बड़ी कामयबी। दरअसल देवागांव कस्बा सहित दो स्थानों पर शनिवार को आरपीएफ टीम ने छापेमारी की, एक जनसेवा केन्द्र सहित दो स्थानों से ई टिकट का कारोबार चल रहा था। इस संबंध में पुलिस ने जनसेवा संचालक सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

मौके से करीब दो लाख के टिकट, लैपटाप, प्रिंटर आदि बरामद हुआ।RPF प्रभारी रेमश चंद मीना ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि अवैध साफ्टवेयर से रेलवे का ई टिकट निकाल कर अधिक मूल्य पर बेचा जा रहा है।सूचना मिलने पर औड़िहार के प्रभारी निरीक्षक नरेश कुमार मीना, वाराणसी के निरीक्षक अभय कुमार राय के साथ संयुक्त रूप से छापेमारी की गई।

विनोद कुमार जायसवाल पुत्र कल्पनाथ जायसवाल को पकड़ा। आईआरसीटीसी की यूजर आईडी तथा अवैध साफ्टवेयर का प्रयोग कर रेलवे का टिकट बनाते पकड़ा गया।उसके कब्जे से एक सामान्य यात्री का 1654 रुपये का टिक ट ,जिस पर यात्रा की जा चुकी है तथा 79 ई टिकट ,जिसका मूल्य एक लाख 69 हजार 701 रुपये है ,बरामद हुआ। इसके साथ ही जांच के दौरान 39 पर्सनल युजर आईडी व प्रतिबंधित साफ्टवेयर का प्रयोग होना पाया गया।

आरोपी के विरूद्ध रिपोट दर्ज कर जांच की जा रही है। इसके साथ ही टीम ने क्षेत्र के उसरौली बाजार में एक जानसेवा केन्द्र में छापा मारा । जनसेवा केन्द्र के संचालक मनोज कुमार प्रजापति पुत्र कपिल देव प्रजापति को आईआरसीटीसी की पर्सनल यूजर आईडी का प्रयोग कर टिकट का आवैध करोबार करते हुए गिरफ्तार किया गया।

उसके पास से 20 सामान्य टिकट जिसका मूल्य 21 हजार 774 रुपये है जिस पर यात्रा की जा चुकी है ,जो बरामद किया गया। इसके साथ ही 37 हजार 670 रुपये के 13 टिकट जप्त किया गया। नौ पर्सनल यूजर आईडी से प्रतिबंधित साफटवेयर का प्रयोग कर रहा था। आजमगढ़ आरपीएफ प्रभारी ने बताया कि दोनों मामले की जांच निरीक्षक जनार्दन यादव को दी गई है।

यह भी पढ़ें 

मासूम की अपहरण के बाद निर्मम हत्या, मचा हड़कंप

अब बॉलीवुड के इन सितारों से NCB करेगी पूछताछ

 

Leave a Reply