Monday , August 15 2022
गणतंत्र दिवस परेड में वसुधैव कुटुंबकम का संदेश देगी CMS की झांकी
गणतंत्र दिवस परेड में वसुधैव कुटुंबकम का संदेश देगी CMS की झांकी

गणतंत्र दिवस परेड में वसुधैव कुटुंबकम का संदेश देगी सीएमएस की झांकी

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल (सी.एम.एस.) इस बार गणतंत्र दिवस (26 जनवरी 2021) परेड में चलो दुनिया को स्वर्ग बनाएं हम प्रेम से और प्यार से विषयक झांकी प्रदर्शित करने जा रहा है। सी.एम.एस. की यह झांकी साढ़े सात अरब विश्ववासियों को प्रेम एवं सेवा का संदेश देने के साथ ही जनमानस में सर्वधर्म समभाव, वसुधैव कुटुंबकम एवं जय जगत की अलख जगाएगी।

वसुधैव कुटुंबकम का विचार भारत की संस्कृति व सभ्यता में रचा-बसा

यह जानकारी सोमवार को रवींद्रालय के निकट आयोजित एक प्रेस वार्ता में सी.एम.एस. के  संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डॉ. जगदीश गांधी ने दी। डॉ. गाँधी ने कहा कि वर्तमान समय की आवश्यकताओं को देखते हुए सी.एम.एस. की यह झांकी  अत्यन्त प्रासंगिक है क्योंकि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की त्याग, सत्य और अहिंसा की नीति के जरिए विश्व समाज में एकता व शांति स्थापित की जा सकती है।

डॉ. जगदीश गांधी ने कहा कि वसुधैव कुटुंबकम का विचार भारत की संस्कृति व सभ्यता में रचा-बसा है और यही हमारे संविधान में भी सन्निहित है। आज जिस प्रकार विश्व व्यवस्था में साम, दाम, दंड, भेद का सहारा लेकर एक-दूसरे पर अधिकार जमाने का प्रयास कर अराजकता का माहौल रचा जा रहा है, उसमें वसुधैव कुटुंबकम के विचार का बढ़ावा देने की महती आवश्यकता है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी अहिंसा की नीति के जरिये इन्ही विचारों को सारे विश्व में प्रवाहित किया था और आज एकता व शान्ति के संदेश को बढ़ावा देने के महात्मा गांधी के योगदान को वैश्विक स्तर स्वीकार किया जाता है। वर्तमान समय में भी महात्मा गांधी के संदेश को सारी दुनिया में पहुंचाने की आवश्यकता है, तभी विश्व समाज में एकता एवं शांति की राह खुलेगी।

अनेकता में एकता का प्रदर्शन

झांकी की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुए डॉ. गांधी ने बताया कि इस झांकी में एक बच्चा ग्लोब उठाए हुए सारे विश्व को वसुधैव कुटुंबकम की शिक्षा दे रहा है तो वहीं दूसरी ओर अनेकता में एकता का प्रदर्शन करते हुए एक ही छत के नीचे मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर, गुरूद्वारा, बौद्ध विहार, बहाई मंदिर आदि विभिन्न पूजा स्थल दिखाए गए हैं, जो यह संदेश दे रहा है कि सभी धर्मों का स्रोत एक ही परमपिता परमात्मा है। इसी छत के नीचे सी.एम.एस. के बच्चे चलो दुनिया को स्वर्ग बनाएं, हम प्रेम से और प्यार से … गीत पर नृत्य प्रस्तुत कर रहें है, तो वहीं दूसरी ओर महात्मा गांधी की भव्य आदमकद प्रतिमा के माध्यम से विश्व में शांति, सुरक्षा, व्यवस्था और विकास के लिए विश्व संसद की स्थापना पर जोर दिया है।

सी.एम.एस. के हेड, इंटरनेशनल रिलेशंस शिशिर श्रीवास्तव ने बताया कि सिटी मोन्टेसरी स्कूल की यह अनूठी झांकी संपूर्ण विश्व समाज को समर्पित है। झांकी से प्रेरणा लेकर यदि एक भी नागरिक या बालक विश्व समाज को शांति, सहयोग, सौहार्द तथा एकता के सूत्र में पिरोने का संकल्प लेता है तो हमारा प्रयास सार्थक होगा। झांकी का निर्माण बड़े जोर-शोर से जारी है एवं 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड में यह झांकी सभी के आकर्षण का केंद्र होगी।

Leave a Reply