Monday , August 15 2022

कोचिंग से घर लौट रही छात्रा को बेखौफ़ बदमाशों ने दिनदहाड़े मरी गोली, हालत नाजुक

बेगूसराय: बिहार में जहां एक तरफ विधानसभा चुनावों नेता बिहार के विकास और अपराध मुक्त बिहार के वादे करते नही थक रहें हैं तो वही बिहार के बदमाशों को जैसे पुलिस और प्रशासन का खौफ़ ही नही रहा आये दिन बिहार में सनसनी खेज़ अपराधों की संख्या में वृद्धि होती जा रही है। ताज़ा मामला बिहार के बेगूसराय जिले का है जहां एक छात्रा को मौत के घाट उतार दिया गया। बेगूसराय में बेखौफ अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया। दिनदहाड़े एक छात्रा को गोली मारकर घायल कर दिया. घटना फुलवरिया थानाक्षेत्र के बिरनिया बाजार की है। घटना की सूचना मिलने के बाद परिजनों ने पीड़िता श्वेता कुमारी को निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया है, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

कोचिंग से घर लौटते वक्त मारी गोली

कोचिंग से घर लौट रही छात्रा को बेखौफ़ बदमाशों ने दिनदहाड़े मरी गोली, हालत नाजुक
 

जानकारी के अनुसार, घायल छात्रा श्वेता कुमारी अपने भाई आदर्श कुमार के साथ रोज कोचिंग करने तारा अड्डा जाती थी। सोमवार को जब वह कोचिंग से वापस अपने घर लौट रही थी, इसी दौरान बिरनिया बाजार के समीप बाइक सवार तीन लड़कों ने उसे घेर लिया। छात्रा जब तक कुछ समझ पाती, बदमाशों ने उसे गोली मार दी। घटना के वक्त श्वेता का भाई आदर्श साइकिल से थोड़ी दूर आगे निकल गया था। लेकिन फायरिंग की आवाज सुनकर जब वह अपनी बहन को बचाने के लिए मौके पर पहुंचा तो अपराधियों ने उसके साथ भी मारपीट की। इस बीच गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के लोग वहां जमा होने लगे। जिसके बाद अपराधी हथियार लहराते हुए मौके से फरार हो गए।

पुलिस के खिलाफ हुई नारेबाज़ी

दिनदहाड़े छात्रा को गोली मारे जाने की घटना से स्थानीय लोगों में पुलिस के प्रति गुस्सा देखा गया। लोगों ने फुलवरिया थाना पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि फुलवरिया में पुलिस का दबदबा लगभग खत्म हो चुका है। अपराधी अब नाबालिग छात्र-छात्राओं को भी अपना निशाना बना रहे हैं। ऐसे में अभिभावकों के लिए अपने बच्चों को पढ़ाना मुश्किल होता दिख रहा है। इन्ही मुदों को लेकर लोगों ने पुलिस के खिलाफ नारेबाज़ी भी की।

Leave a Reply