Saturday , May 21 2022

नेपोटिज्म पर सैफ अली खान ने किया ये ख़ुलासा

नई दिल्ली: बड़े पर्दे के एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद सोशल मीडिया पर नेपोटिज्म की बहस छिड गयी है। सभी सेलेब्रिटी और जनता इस मुद्दे पर अपनी राय रख रही हैं ।

सैफ अली खान ने कहा:

एक मीडिया रिपोर्ट के साथ बातचीत करते समय सैफ अली खान ने कहा “कि वो भी नेपोटिज्म (Nepotism) का शिकार हो चुके है। ये एक ऐसी चीज है । जिसका शिकार मैं खुद हो चुका हू । नेपोटिज्म (Nepotism)  को बढ़ावा देना वाले यही है पर कोई इस विषय पर बात नहीं करना चाहता है, बिजनेस ऐसे ही चलता है। हालांकि मैं इस बारे में किसी का नाम नहीं लेना चाहता कि कौन इसे बढावा दे रहा है।” सैफ अली खान कि बातो से लगता है कि वो उह दर्द से गुजर चुके है ऐसे में उन्हें परिस्थितियों का अंदाजा है।

बॉलीवुड इंडस्ट्री में हर लेवल का नेपोटिज्म

बॉलीवुड इंडस्ट्री में हर लेवल का नेपोटिज्म है। सैफ कहते हैं ”कि मुझे आज भी याद है किसी के पिता ने फिल्ममेकर (filmmaker) को फोन करके मेरे लिए कहा था कि उसे मत लो। वह हीरो के लिए सही नहीं। जो जिसके साथ काम करने में आरामदायक महसूस करता है वह उसी के साथ काम करता है और उसे ही कास्ट भी किया जाता है” उनके इस बयान से लगा कि फेवरेटिज्म का ये रोल आज से नही बल्कि फिल्म इंडस्ट्री कि सुरुआती दिनों से ही बॉक्स ऑफिस पर जोरो सोरो से चल रहा है और इसकी पकड़ दिन ब दिन मजबूत होती जा रही है । ये इंडस्ट्री टेलेंट से कम नेपोटिज्म से ज्यादा चल रही है।

सैफ खुश हैं कि नए लोग फिल्मी दुनिया में आकर अपनी योग्यता का प्रदर्सन कर रहे है । साथ ही अपने अभिनय से घर-घर में  काम से पहचान बना रहे हैं। बाकी लोगों के लिए एक्टिंग का शानदार लेवल सेट कर रहे हैं। इसमें नवाजुद्दीन सिद्दीकी और पंकज त्रिपाठी जेसे नाम शामिल रहेंगे। सैफ आगे कहते हैं कि टैलेंट और स्किल्स जिसके अंदर है । उसे आपको रिप्लेस नहीं करना चाहिए। अगर आप ऐसा करते हैं तो यह सिर्फ नेपोटिज्म के अंतरगत ही आता है। फिर आप चाहे जितनी भी सफाई दे सही नही मानी जाये गी।

Leave a Reply