Monday , September 26 2022

कड़ाके की ठंड व कोहरे से जनजीवन अस्तव्यस्त

लखनऊ। पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में लगातार सर्दी का कहर बढ़ता जा रहा है। जिससे लोगों को जन जीवन पूरी तरह से अस्तव्यस्त हो जा रहा है। सर्दी का आलम यह है कि सुबह- शाम घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। ऐसे में शरीर को गर्म रखने के लिए लोगों को आग का सहारा लेना पड़ रहा है। वहीं, उत्तर प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में रविवार को कोहरे का प्रकोप देखने को मिला।

Reflex Season, Dominated The Fog - मौसम पलटा, छाया रहा कोहरा | Patrika News

खासकर राजधानी लखनऊ समेत कुछ जिलों में कड़ाके की ठंड के साथ-साथ कोहरे भी आज सुबह देखने को मिला। इससे विजिबिलिटी काफी कम हो गई थी। कुछ ही कदम की दूरी पर कुछ भी स्पष्ट दिखाई नहीं दे रहा था। यहां तक कि सड़कों पर वाहन तक साफ- साफ दिखाई नहीं दे रहे थे। खासकर वाराणसी जिले में कड़ाके की ठंड के साथ-साथ कोहरे भी आज सुबह देखने को मिला।

दिल्ली में जहरीली धुंध, सीआईएसएफ कर्मियों को मिलेंगे मास्क

इससे विजिबिलिटी काफी कम हो गई थी। कुछ ही कदम की दूरी पर कुछ भी स्पष्ट दिखाई नहीं दे रहा था। यहां तक कि सड़कों पर वाहन तक साफ- साफ दिखाई नहीं दे रहे थे।कोहरा व कड़ाके की सर्दी से किसानों के चेहरे पर रौनक है। क्योकि इस कड़ाके की ठंड से गेंहू की फसल को फायदा होता है। किसानों ने बताया कि जितनी अधिक सर्दी पड़ेगी उतना ही गेंहू की फसल अच्छी होगी।

Damage To Pulses Crops, Rain Showers For Wheat - दलहन फसलों के लिए नुकसान,  गेहूं के लिए फायदे की बारिश | Patrika News

 

Leave a Reply