Wednesday , September 28 2022

अहमदाबाद में स्वास्थ्य चिंतन शिविर से लौटे चिकित्सा शिक्षा मंत्री सारंग का बयान

भोपाल। अहमदाबाद में देशभर के स्वास्थ्य मंत्रियों के स्वास्थ्य चिंतन शिविर में खंडन किया गया। साथ ही डब्ल्यूएचओ के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया है। यह बयान मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने आज ट्वीट पर जारी किया है।

कोरोना में मौतों को लेकर डब्ल्यूएचओ ने पिछले दिनों एक रिपोर्ट जारी की थी जिसको लेकर भाजपा द्वारा लगातार खंडन किया जा रहा है। यह मुद्दा अहमदाबाद में देशभर के स्वास्थ्य मंत्रियों के स्वास्थ्य चिंतन शिविर में भी गूंजा। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि इस मुद्दे पर चिंतन शिविर में सभी स्वास्थ्य मंत्रियों ने चर्चा की और शिविर में इसको लेकर डब्ल्यूएचओ के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया गया। सारंग ने कहा कि डब्ल्यूएचओ ने अपने आंकड़ो को लेकर कोई आधार नहीं बताया है। मैथेमेटक्स फार्मूले से मौतों के आंकड़े जारी करने की बात कही जा रही है।सारंग ने कहा कि शिविर में डब्ल्यूएचओ ने हिंदुस्तान को बदनाम किया है क्योंकि हिंदुस्तान में जन्म-मृत्यु पंजीयन को लेकर फूल प्रूफ सिस्टम है।

राहुल गांधी फिर बदनाम कर रहे
सारंग ने कहा कि इसको लेकर कांग्रेस फिर हिंदुस्तान को बदनाम कर रही है। राहुल गांधी डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट समर्थन में बातें कर रहे हैं जबकि पूरा देश उसके खिलाफ बात कर रहा है। कोरोना से जितनी मौतें हुई हैं, उनका बाकायदा रिकॉर्ड है। सारंग ने कहा कि डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट पूरी तरह से गलत है।