Monday , September 26 2022
सुब्रमण्यम स्वामी बोले- मोदी को पत्र लिखकर 2016 से चेतावनी दे रहा था, आखिर वही हो गया
सुब्रमण्यम स्वामी बोले- मोदी को पत्र लिखकर 2016 से चेतावनी दे रहा था, आखिर वही हो गया

सुब्रमण्यम स्वामी बोले- मोदी को पत्र लिखकर 2016 से चेतावनी दे रहा था, आखिर वही हो गया

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार पर अक्सर निशाना साधने वाले भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने फिर से अपने एक ट्वीट से मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े किये हैं। पूर्व राज्य सभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने द इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर को शेयर करते हुए लिखा है कि वही हुआ जिसको लेकर मैं 2016 से पत्र लिखकर चेतावनी दे रहा था।
दरअसल कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर के देशों की अर्थव्यवस्था सुस्ती देखी गई है। ऐसे में कई देशों की सॉवरेन क्रेडिट रेटिंग में बदलाव आने की संभावना है। भारत की भी सॉवरेन रेटिंग जंक ग्रेड में जाने का खतरा बना हुआ है। जिसके लिए सरकार ने दुनियाभर में भारत को लेकर पॉजिटिव इम्पैक्ट बनाये रखने के लिए नैरेटिव मैनेजमेंट का मसौदा तैयार किया गया है।
ऐसे में भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने एक ट्वीट में लिखा, मैं 2016 से इसको लेकर मोदी को पत्र लिख- लिखकर और द हिंदू, संडे गार्जियन और पायनियर के जरिए भी चेतावनी दे रहा हूं। इसके आगे उन्होंने तंज के लहजे में सवालिया निशान के साथ लिखा, “5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था?..हा !
बता दें कि वैश्विक थिंक टैंकों, सूचकांकों और मीडिया की नकारात्मक प्रतिक्रियाओं के कारण भारत को अपनी सॉवरेन रेटिंग के गिरने की आशंका सता रही है। आशंका है कि भारत की सॉवरेन रेटिंग को जंक ग्रेड में डाउनग्रेड किया जा सकता है। इसके बीच भारतीय वित्त मंत्रालय के आर्थिक विभाग ने नकारात्मक प्रतिक्रियाओं का मुकाबला करने के लिए एक नैरेटिव मैनेजमेंट प्‍लान तैयार किया।
इस तैयारी के बीच सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि आखिर वही हुआ जिसको लेकर मैं 2016 से मोदी को पत्र के जरिए चेतावनी दे रहा था।
बता दें कि इससे पहले भी सुब्रमण्यम स्वामी मोदी सरकार की नीतियों पर सवाल खड़े करते रहे हैं। इसी साल अप्रैल में स्वामी ने एक चैनल के इंटरव्यू में कहा था कि इस समय हमारी लीडरशिप में मोदी के अलावा कोई दूसरा नहीं है। वोटिंग से कोई चीज तय नहीं होती, मोदी जो बात कह देते हैं। वहीं सभी मान लेते हैं।