Monday , August 8 2022
लखनऊ में सेना के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का श‍िलान्‍यास
लखनऊ में सेना के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का श‍िलान्‍यास

लखनऊ में सेना के सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का श‍िलान्‍यास

लखनऊ। राजधानी लखनऊ में शनिवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, सेनाध्यक्ष एमएम नरवणे व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में सेना की मध्यकमान मुख्यालय में न्यू कमांड अस्पताल के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया गया। लगभग 900 बेड का नया अस्पताल तीन से चार साल में तैयार होगा। यह एक सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल होगा। इससे छह लाख जवान और परिवार को फायदा म‍िलेगा। यह हॉस्पिटल नर्सिंग और डेंटल कॉलेज की तरह काम करेगा।

न्यू कमांड अस्पताल के शिलान्यास कार्यक्रम

इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि न्यू कमांड अस्पताल के शिलान्यास कार्यक्रम के अवसर पर आश्वस्त करता हूं कि रक्षा और सिविल प्रशासन इस पूरी व्यवस्था को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। सिविल प्रशासन से रक्षा सेनाओं को जो भी अपेक्षा होगी उपलब्ध कराया जाएगा।
सीएम ने कहा कि दुनिया में भारतीय सेना अपने शौर्य व पराक्रम के लिए जानी जाती है।

भारत सरकार ने अपने स्तर पर हर सुविधाएं प्रदान

सेना की आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भारत सरकार ने अपने स्तर पर हर सुविधाएं प्रदान की हैं। यह सुविधाएं जवानों के परिवारों को सेवाकाल व उसके बाद भी मिल रही हैं। आर्मी कमांडर के प्रयासों से आज लम्बित परियोजना मूर्तरूप लेती दिखाई दे रही है। उन्हें व उनकी पूरी टीम को मैं हृदय से बधाई व धन्यवाद देता हूं। इस प्रकार की योजनाओं से बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने में हम सहभागी बनेंगे। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 10 महीनों से पूरी दुनिया जिस महामारी से त्रस्त थी, उसके खिलाफ टीकाकरण शुरू हो गया है। न्यू कमांड अस्पताल के कार्यक्रम से खुशी दोहरी हुई है।

भारत की सेना दुनिया मे शौर्य और पराक्रम के लिए जानी जाती है

उन्होंने कहा कि भारत की सेना दुनिया मे शौर्य और पराक्रम के लिए जानी जाती है। सेना की जरूरतों की पूर्ति के लिए केंद्र सरकार ने हर प्रकार से सुविधा दी है। स्वास्थ्य सेवा की महत्ता हम समझते हैं। लखनऊ में नई कमांड अस्पताल की जरूरत समझते हैं।
उन्होंने कहा कि कोरोना से जंग में सेना ने बढ़-चढ़कर मदद की है। कमांड ने पहले ही एसजीपीजीआई, राम मनोहर लोहिया अस्पताल व केजीएमयू से एमओयू किये हैं और पूर्व सैनिकों की सहायता के लिए तत्पर हैं। सेना की व्यवस्था सिविल प्रशासन में आगे बढ़ने की उमंग भरता है। रक्षा और सिविल प्रशासन मिलकर काम करेगा। भरपूर सहयोग किया जाएगा।

क्या बोले राजनाथ सिंह ?

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत करके कोरोना संकट पर विजय पाने के दिशा में निर्णायक कदम उठाया गया है। पहले चरण में तीन करोड़ लोगों तक वैक्सीन पहुँचाने का संकल्प लिया गया है।  हमारे देश डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिसकर्मी और अन्य फ़्रंटलाइन वर्कर । जिन्होंने कोरोना के ख़िलाफ़ जंग छेड़ी उन्हें अब वैक्सीन के रूप में सुरक्षा कवच मिलने जा रहा है।

तीस करोड़ लोगों तक टीकाकरण अभियान पहुँचेगा

अगले चरण में तीस करोड़ लोगों तक टीकाकरण अभियान पहुँचेगा। निश्चित रूप से यह बहुत बड़ी उपलब्धि होगी। हम लोगों के लिए खुशी की बात है, कि वैक्सीनेशन का सिलसिला आज से शुरू हो गया है। हमने 2 स्वदेशी वैक्सीन बना ली हैं और 4 वैक्सीन और आने वाली हैं। ये वैक्सीन केवल भारतवासियों को ही नहीं लगाई जाएंगी बल्कि दुनिया के दूसरे देशों को भी जल्दी ही निर्यात की जाएंगी।

जीडीपी में भी हेल्थ सेक्टर में वृद्धि कर रहे

आज भी उतने अस्पताल नहीं हैं, जितने चाहिए। जीडीपी में भी हेल्थ सेक्टर में वृद्धि कर रहे हैं। मेडिकल में रिसर्च डेवलपमेंट को बढ़ावा दिया है। आयुष्मान जैसी योजना दुनिया में नहीं है। दो साल में 1.5 से ज्यादा लोगों को लाभ मिला है। प्राइमरी हेल्थ सेंटर को हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर की तरह विकसित कर रहे हैं। हर जिले में एक पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल कॉलेज होगा। 22 नए एम्स 6 महीने में बन गए। एमबीबीएस की 30000 सीटें बढ़ाई गई हैं। निर्धारित समय मे अस्पताल बनकर तैयार हो, ऐसी कामना करता हूं।

Leave a Reply