‘सुपरवुमेन’ हरलीन देओल के हैरतअंगेज कैच ने जीता सबका दिल

0 0

लंदन। भारतीय महिला क्रिकेट टीम को भले ही तीन मैचों की टी-20 सीरीज के पहले मुकाबले में इंग्लैंड ने डकवर्थ लुईस नियम (डीएलएस) के तहत 18 रनों से हरा दिया। बावजूद इसके हरलीन देओल का अविश्वसनीय कैच इस समय खूब सुर्खियां बटोर रहा है। हरलीन के इस बेहतरीन कैच ने विपक्षी बल्लेबाज एमी एलन जोंस को अर्धशतक से भी रोक दिया।

इंग्लैंड की पारी के दौरान भारतीय महिला फील्डर हरलीन देओल ने बाउंड्री लाइन पर एमी जोन्स का शानदार कैच पकड़ कर सबका दिल जीत लिया। इंग्लैंड की पारी के 19वें ओवर की आखिरी गेंद पर विकेटकीपर एमी जोन्स ने शिखा पांडे की गेंद पर बड़ा शॉट लगाया।

नॉर्थम्प्टन में खेले गए इस मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 19 ओवर में 4 विकेट पर 166 रन बना लिए थे। उस समय एमी जोंस 26 गेंदों पर 43 रन बनाकर बैटिंग कर रही थीं। जोंस ने शिखा पांडे की गेंद को लॉन्ग ऑफ की ओर खेला।

इसके बाद हरलीन ने कैच पकड़ने के लिए अपनी एथलेटिक्स स्किल का परिचय देते हुए हवा में छलांग लगा दी। उन्होंने गेंद को लपका और देखा कि उनका संतुलन बिगड़ रहा है तो उन्होंने गेंद को बाउंड्री के अंदर उछाल दी और खुद बाउंड्री के बाहर चली गईं। लेकिन फिर हरलीन ने बाउंड्री के अंदर डाइव लगाकर गेंद को कैच कर लिया।

हरलीन के इस शानदार कैच का वीडियो इस समय सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। महिला क्रिकेट में ये अब तक सबसे बेस्ट कैच माना जा रहा है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने ट्वीट के जरिए हरलीन के कैच को सराहा। दिग्गज इसे महिला क्रिकेट का अबतक का बेस्ट कैच बता रहे हैं।

ऐसे पकड़ा कैच
बाउंड्री पर फील्डिंग कर रही हरलीन ने इस कैच को पकड़ने के लिए डाइव लगाई, लेकिन उनका संतुलन बिगड़ गया और वह बाउंड्री लाइन से बाहर चली गईं, इस दौरान उन्होंने गेंद को बाउंड्री के अंदर फेंक कर फिर से डाइव लगाकर कैच पकड़ लिया। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। जिसके बाद कोई उनकी तुलना रविंद्र जडेजा के साथ कर रहा है, तो कोई उन्हें सुपर वुमन बता रहा है।

कैच ऑफ द ईयर
भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने इसे कैच ऑफ द ईयर बताया है। उन्होंने कहा कि इससे बेहतरीन कैच मैंने नहीं देखा। वहीं, वेस्टइंडीज के पूर्व क्रिकेटर डैरेन सैमी ने भी हरलीन के कैच की तारीफ की। ऑस्ट्रेलिया की पूर्व कप्तान लिसा स्थालेकर ने कहा कि इस सीरीज का यह अब तक का बेस्ट कैच है।

इंग्लैंड ने डकवर्थ लुइस नियम के तहत जीता मैच
इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट पर 177 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 8.4 ओवर में 3 विकेट पर 54 रन जब बना चुकी थी उसके बाद बारिश ने खलल डाला। लगातार बारिश के कारण आगे का खेल संभव नहीं हो पाया और मेजबान टीम को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 18 रन से विजेता घोषित कर दिया गया।

भारत की ओर से ओपनर शेफाली वर्मा खाता भी नहीं खोल सकी। उन्हें कैथरीन ब्रंट ने बोल्ड किया। स्मृतिम मंधाना 29 रन बनाकर आउट हुईं। कप्तान हरमनप्रीत कौर ने फिर निराश किया। हरमनप्रीत एक रन बनाकर आउट पवेलियन लौटीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.