Thursday , June 30 2022

चंचल और चरित्रहीन कलाकार थे सुशांत सिंह राजपूत- शिवसेना

मुंबई: एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को लगभग तीन महीने से ज्यादा का समय बीत चूका है। लेकिन अभी भी उनकी मौत की असल वजह का खुलासा नही हो पाया है कि सुशांत ने आत्महत्या क्यों और किस परिस्तिथि में की थी। सीबीआई की टीम लगातार सुशांत के केस की छानबीन कर रही है। मगर इस बीच शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में सुशांत सिंह राजपूत को लेकर आपत्तिजनक आर्टिकल छापा है। सुशांत की मौत में दोषियों को बचाने का आरोप झेल रही शिवसेना ने AIIMS की रिपोर्ट को आधार बनाकर एक्टर सुशांत कोचरित्रहीन तक कह डाला।

शिवसेना ने सामना में लिखा

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में सुशांत सिंह राजपूत के चरित्र पर निशाना साधते हुए कई बातें लिखी हैं। ताजा आर्टिकल में शिवसेना ने एक्टर को ड्रग्स लेने वाला और चरित्रहीन शख्स बताया। AIIMS की रिपोर्ट का हवाला देते हुए आर्टिकल में लिखा गया है, ‘सीबीआई जांच में पता चला कि सुशांत एक चरित्रहीन और चंचल कलाकार था। सुशांत सिंह विफलता और निराशा से ग्रस्त था। जीवन में असफलता से वो खुद को संभाल नहीं पाया। इसी कशमकश में उसने मादक पदार्थों का सेवन करना शुरू कर दिया। फिर एक दिन फांसी लगाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर दी।’

सामना में आगे लिखा गया है, ‘सीबीआई जांच में सामने आया है कि सुशांत सिंह एक चरित्रहीन और चंचल कलाकार थे। बिहार की पुलिस को हस्तक्षेप करने दिया होता, तो शायद सुशांत और उसके परिवार की रोज बेइज्जती होती। बिहार चुनाव में प्रचार के लिए कोई मुद्दा नही होने की वजह से नीतीश कुमार और वहां के नेताओं ने यह मुद्दा उठाया। इसके लिए राज्य के पूर्व पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर को वर्दी में नचाया। आखिरकार ये महाशय नीतीश कुमार की पार्टी में शामिल हो गए।’

नेताओं और चैनलों पर होना चाहिए मानहानि का केस

शिवसेना ने अपने मुख्य पत्र सामना में यह भी कहा गया है कि महाराष्ट्र सरकार को उन नेताओं और चैनलों पर मानहानि का केस करना चाहिए, जो मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल उठाकर उसकी छवि खराब कर रहे थे। ऐसे बेईमान लोगों के खिलाफ मराठी जनता को एक भूमिका लेनी चाहिए। आर्टिकल में आगे लिखा गया, ‘कई गुप्तेश्वर आये और गए. लेकिन, मुंबई पुलिस की प्रतिष्ठा का झंडा लहराता रहा। अगर सुशांत सिंह के ऊपर मौत के बाद मामला चलाने की कानूनी व्यवस्था होती, तो ड्रग्स मामले में सुशांत पर मादक पदार्थों के सेवन का मुकदमा चलता।’

कंगना रनौत पर भी कसा तंज

शिवसेना ने इस मामले में बढ़-चढ़कर बयान देने वाली कंगना रनौत पर भी निशाना साधा। सामना में लिखा, ‘सुशांत की मौत को जिन्होंने भुनाया, मुंबई को पाकिस्तान और बाबर की उपमा दी, वो अभिनेत्री अब किस बिल में छिपी है। हाथरस में एक युवती को बलात्कार के बाद मार डाला गया, इस पर इस अभिनेत्री ने आंखों में ग्लिसरीन डालकर भी दो आंसू नहीं बहाए। जिन्होंने बलात्कार किया वो इस अभिनेत्री के भाई बंधु हैं क्या?’

 क्या है AIIMS की रिपोर्ट में

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) की रिपोर्ट में कहा गया है कि सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या की थी। AIIMS की टीम ने ना केवल विसरा रिपोर्ट की जांच की, बल्कि खुदकुशी वाले जगह का मुआयना भी किया। एम्स की पांच सदस्यों वाली फॉरेंसिक टीम ने कई हफ्तों तक लगातार एक-एक पहलू की जांच की। जिसके बाद इस नतीजे पर पहुंची। अब सीबीआई मामले की जांच सुसाइड के एंगल से करेगी।

 

 

Leave a Reply