फिल्म ‘सरदार उधम सिंह’ की ये है कहानी, उधम सिंह के लुक के लिए विक्की कौशल ने किया ये काम

फिल्म मसान में लीड रोल से डेब्यू करने वाले विक्की कौशल ने अपनी एक्टिंग से लोगों का दिल जीत लिया है जिसके बाद से विक्की कौशल अपनी एक के बाद एक फिल्मों में

0 5

मुंबई: फिल्म मसान में लीड रोल से डेब्यू करने वाले विक्की कौशल ने अपनी एक्टिंग से लोगों का दिल जीत लिया है जिसके बाद से विक्की कौशल अपनी एक के बाद एक फिल्मों में ज़बरदस्त प्रदर्शन कर लोगों के दिल में उतर गए है. एक बार फिर विक्की कौशल ने अपनी आने वाली फिल्म सरदार उद्धम सिंह को लेकर चर्चे में बने हुए हैं.

बता दें कि फिल्म का ट्रेलर लॉन्च हो चुका है जो काफी सस्पेंस से भरा हुआ है. इस ट्रेलर में ब्रिटिश लॉ के बारें में दिखाया गया है. सोशल मिडिया पर विक्की कौशल ने फिल्म के ट्रेलर को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है कि ‘एक भूले-बिसरे आदमी की कहानी। एक बेमिसाल यात्रा की कहानी। यह एक क्रांतिकारी की कहानी है।’ साथ ही इस फ़िल्म के ट्रेलर को शेयर करते हुए विक्की कौशल ने फिल्म रिलीज़ की अनाउंसमेंट भी कर दी है. यह फिल्म 16 अक्टूबर को ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज होगी।”

इस फिल्म को सुजीत सरकार ने डायरेक्ट किया है. इसके आलावा फिल्म की मुख्य भूमिका में बनिता संधू और अमोल पाराशर नज़र आएँगे। साथ ही ये भी बता दें की सरदार उद्धम सिंह पर बनी ये कोई पहली फिल्म नहीं है इससे पहले सन 2000 में उधम सिंह की जीवनी पर एक फिल्म बनी थी जिसमें राज बब्बर और जूही चावला ने अभिनय किया था .

फिल्म कि स्टोरी की बात करें तो यह फिल्म क्रांतिकारी सरदार उधम सिंह के जीवन पर आधारित है. सरदार उधम सिंह 26 दिसंबर 1899 का जन्म पंजाब के संगरूर जिले के सुनाम गांव में हुआ था. उधम सिंह हिंदुस्‍तान के इतिहास में ऐसे क्रांतिकारी थे जो जलियांवाला बाग नरसंहार का बदला लेने के लिए लंदन पहुंच गए थे।

1919 में रॉलेट एक्ट के तहत कांग्रेस के सत्य पाल और सैफुद्दीन किचलू को अंग्रेजों द्वारा अरेस्ट करने के बाद पंजाब के अमृतसर में हजारों की तादाद में लोग एक पार्क में जमा हुए थे. इन लोगों का मकसद शांति से प्रोटेस्ट करना था. हालांकि अंग्रेजों के जनरल Reginald Dyer ने अपनी फौज के साथ उन मासूम लोगों को मार गिराया था. इसमें उसका साथ उस समय पंजाब के गवर्नर रहे Michael O’Dwyer ने दिया था.

इस नरसंहार को जलियांवाला बाग हत्याकांड का नाम दिया गया. उधम सिंह 1919 में हुए जलियांवाला बाग नरसंहार के साक्षी थे. जिसके बाद से उधम सिंह ने स्वतंत्रता की लड़ाई में कूदने और Reginald Dyer और Michael O’Dwyer से बदला लेने की प्रतिज्ञा ली थी.

इसके आलावा बात करें तो इस फिल्म में विक्की कौशल दो लुक में नज़र आएँगे. पहला लुक उनका “हत्‍याकांड की घटना के दौरान का है जब 1919 उधम सिंह महज 21 साल के थे। इस लुक के लिए विक्की कौशल लिक्विड डाइट पर थे खाने में वो बिस्किट वगैरा लिया करते थे. जिसका नतीजा यह हुआ उनका कॉलर बोन तक दिखने लगा। गाल और आंखें अंदर धंसी गई. इस लुक में विक्की बिलकुल ‘सरबजीत’ की फिल्म में आए रणदीप हुड्डा की तरह लगने लगे.

वहीँ दुसरे लुक की बात करें तो इस लुक में विक्‍की यानी उधम सिंह जनरल डायर की मौत का बदला लेने 1940 में जब लंदन जाते हैं तब वो 41 साल के होते है जिसके लिए उनके मसल्‍स मजबूत करवाए जाते हैं। विक्‍की फिर से वेट गेन कर लेते हैं। कुल मिलाकर 15 से 16 किलो विक्‍की ने वेट शेड किया है।”

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.