Thursday , July 7 2022

अमेरिका के खिलाफ़ टिकटॉक पहुंचा कोर्ट, ट्रंप के आदेश को दी चुनौती

वाशिंगटन: चीन की वीडियो शेयरिंग ऐप्प टिकटॉक ने ट्रंप प्रशासन द्वारा प्रतिबंध पर टिकटॉक ने कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है। टिकटॉक और उसका मालिकाना हक रखने वाली चीनी कंपनी बाइटडांस ने शुक्रवार देर रात वाशिंगटन स्थित संघीय कोर्ट में एक याचिका दाखिल की। ब्लूमबर्ग न्यूज के मुताबिक याचिका में ट्रंप के उस कार्यकारी आदेश को चुनौती दी गई है, जिसके तहत टिकटॉक और वीचैट पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया गया है।

 ट्रंप ने राजनीतिक सिद्धि के चलते बैन किया ऐप्प

दरअसल, छह अगस्त को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ऐप्प पर प्रतिबंध लगाने संबंधी कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए थे। चूंकि यह आदेश 45 दिनों में प्रभावी होना था और यह अवधि 20 सितंबर को पूरी हो रही है, इसलिए बीते शुक्रवार को वाणिज्य मंत्रालय ने एक आदेश जारी किया। इस आदेश में कहा गया है कि रविवार से अमेरिका में रहने वाला कोई भी व्यक्ति टिकटॉक और वीचैट को डाउनलोड नहीं कर सकेगा।

हालांकि जिन मोबाइल फोन पर पहले से टिकटॉक चल रहा है, वह काम करता रहेगा, लेकिन अपडेट वर्जन ऐप्प स्टोर से डाउनलोड नहीं किया जा सकेगा। ब्लूमबर्ग न्यूज के मुताबिक याचिका में कहा गया है कि ट्रंप ने एप पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय अपने अधिकार क्षेत्र से बाहर जाकर लिया है। यह फैसला उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा को होने वाले किसी प्रकार के खतरे के चलते नहीं किया है बल्कि इस फैसले के पीछे शुद्ध राजनीतिक है।

चीन ने प्रतिबंध पर ज़ाहिर की नाराज़गी

चीन ने टिकटॉक और वीचैट को पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए चीन ने शनिवार को कहा कि वह वीचैट और टिकटॉक के डाउनलोडिंग को रोकने के अमेरिका के कदम का घोर विरोध करेगा। चीनी वाणिज्य मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि बिना किसी सबूत के अभाव में अमेरिका ने बार-बार गैरकानूनी कारणों का हवाला देते हुए दोनों ही कंपनियों को दबाने के लिए सरकारी शक्ति का इस्तेमाल किया है। अमेरिका ने कंपनियों की सामान्य व्यावसायिक गतिविधियों को गंभीर रूप से बाधित किया है। साथ ही निवेश के माहौल में अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के विश्वास को कम किया।

मंत्रालय ने आगे कहा कि वाशिंगटन को अपनी कार्रवाइयों को तुरंत रोकना चाहिए और अंतरराष्ट्रीय नियमों की रक्षा करनी चाहिए। अगर अमेरिका अपने आदेश को वापस नहीं लेता है तो चीन कंपनियों के वैध अधिकारों और हितों की रक्षा करने के लिए आवश्यक उपाय
करेगा।

ट्रंप ने दोहराई डाटा सुरक्षा की प्रतिबद्धता की बात

शुक्रवार को व्हाइट हाउस में ट्रंप ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि हमारे पास कुछ बड़े विकल्प हैं और हम संभवत: बहुत से लोगों को खुश कर सकते हैं, लेकिन सुरक्षा वह चीज है जिसकी हमें जरूरत है। हमें चीन से पूरी सुरक्षा चाहिए।’ बता दें कि प्रौद्योगिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट, ओरेकल और वालमार्ट टिकटॉक की मूल कंपनी बाइटडांस से करार के लिए बातचीत कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि अमेरिकियों के डाटा की सुरक्षा उनकी उच्च प्राथमिकता है। वीडियो शेयरिंग वाले चीनी ऐप्प टिकटॉक के भविष्य पर जल्द फैसला लिया जाएगा।

Leave a Reply