Wednesday , July 6 2022

300 करोड़ रुपये के नुकशान के बाद इस दिन खुलेंगे, लखनऊ के पर्यटन स्थल

लखनऊ: कोरोना संकट की वजह से क़रीब छह माह से बंद लखनऊ के पर्यटन स्थल 21 सितंबर से पर्यटकों के लिए खोल दिए जाएंगे। पर्यटक कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतों का दीदार कर सकेंगे। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अनुपम श्रीवास्तव ने बताया कि रेजीडेंसी को पहले खोल दिया गया था, अब 21 सितंबर से इमामबाड़ा सहित राजधानी की अन्य सभी पर्यटन स्थलों को पर्यटकों के लिए खोला जा रहा है। प्रवेश से पूर्व पर्यटकों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना पड़ेगा।

क्या है पर्यटकों के लिए गाइडलाइन

  • बगैर मास्क एंट्री नहीं मिलेगा।
  • हैंड सैनिटाइजर का करना होगा इस्तेमाल।
  • बुखार, खांसी आदि होने पर परहेज करें।
  • धरोहरों में किसी एक जगह पर भीड़ नहीं लगा सकते।
  • धरोहरों को छूने से करें परहेज।

300 करोड़ रुपये से अधिक का हुआ है नुकसान

300 करोड़ रुपये के नुकशान के बाद इस दिन खुलेंगे,लखनऊ के पर्यटन स्थल

पर्यटन विशेषज्ञ सुनील सत्यवक्ता ने बताया कि कोरोना की वजह से उत्तर प्रदेश के पर्यटन उद्योग को पूरे प्रदेश में 300 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है। इसमें होटल, टूरिज्म, एयरलाइन सब शामिल हैं। वहीं अकेले लखनऊ में 70 करोड़ के आसपास नुकसान हुआ है।

पर्यटन केंद्र खुलने से उद्योग को मिलेगा लाभ

राजधानी में बड़ा इमामबाड़ा, छोटा इमामबाड़ा, सतखंडा, पिक्चर गैलरी सहित तमाम पर्यटन केंद्र ऐसे हैं, जहां प्रतिवर्ष लाखों पर्यटक आते हैं। करीब छह माह से इन पर्यटन केंद्रों के बंद होने की वजह से पर्यटन केंद्र के जुड़े लोगों के अलावा अन्य उद्योग के लोगों को भी नुकसान हुआ है अब जब इन पर्यटन केन्द्रों को खोला जाएगा तो उद्योग को बढ़ावा मिलेगा ही साथ ही पर्यटन उद्योग से जुड़े तांगे वालों, चिकन कारोबारी और दूसरे कारोबारियों के चेहरे भी खिलेंगे।

 

Leave a Reply