Friday , August 12 2022
यूएन महासचिव ने भी लगवाई कोरोना वैक्सीन, जमकर की भारत की तारीफ
यूएन महासचिव ने भी लगवाई कोरोना वैक्सीन, जमकर की भारत की तारीफ

यूएन महासचिव ने भी लगवाई कोरोना वैक्सीन, जमकर की भारत की तारीफ

जिनेवा। दुनिया में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 10.20 करोड़ से ज्यादा हो गया। 7 करोड़ 38 लाख से ज्यादा लोग ठीक हो चुके हैं। अब तक 21 लाख 99 हजार से ज्यादा लोग जान गंवा चुके हैं। दुनिया में सबसे पहले वैक्सीनेशन को अप्रूवल देने वाले ब्रिटेन से एक और अच्छी खबर आ रही है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा है कि देश में नोवावैक्स वैक्सीन के ट्रायल्स भी कामयाब रहे हैं। दूसरी तरफ, फ्रांस सरकार को वैक्सीन शॉर्टेज की आशंका सता रही है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने भी वैक्सीनेशन कराया है।

एंटोनियो गुटरेस ने गुरुवार को न्यूयॉर्क में वैक्सीनेशन कराया। यूएन चीफ ब्रान्क्स के वैक्सीन सेंटर पहुंचे और यहां मीडिया के सामने वैक्सीनेशन कराया। बाद में कहा कि मैं खुशकिस्मत हूं और उन लोगों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझे वैक्सीनेट किया। इस महामारी में कोई भी तब तक सुरक्षित नहीं है, जब तक हम सभी सुरक्षित नहीं हो जाते। अगर हम वैक्सीनेशन को तवज्जो देंगे और इसे गंभीरता से लेंगे तो बहुत जल्द इस महामारी को रोका जा सके।

भारत की संयुक्त राष्ट्र  ने जमकर तारीफ की

कोरोना महामारी के मुश्किल दौर में पड़ोसी धर्म निभा रहे भारत की संयुक्त राष्ट्र (यूएन) ने जमकर तारीफ की है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि भारत के प्रयास सराहनीय हैं और उसे ग्लोबल वैक्सीनेशन अभियान में अहम भूमिका निभानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत ने जबरदस्त वैक्सीन निर्माण क्षमता का प्रदर्शन किया है, जो पूरी दुनिया के लिए खुशी की बात है। इससे पहले भी यूएन कई मौकों पर भारत की तारीफ कर चुका है।

भारत से उम्मीद

एंटोनियो गुटेरेस ने कहा कि हम जानते हैं कि भारत में बड़े पैमाने पर स्वदेश निर्मित वैक्सीन का प्रोडक्शन होता है। हम इसके लिए भारतीय संस्थानों के संपर्क में हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि वैश्विक टीकाकरण अभियान को कामयाब बनाने के लिए भारत हर संभव भूमिका निभाएगा। उन्होंने आगे कहा कि मेरी नजर में भारत की उत्पादन क्षमता आज दुनिया के लिए किसी उपलब्धि से कम नहीं है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव का यह बयान ऐसे समय में आया है जब भारत अपने पड़ोसी देशों को मुफ्त में कोरोना वैक्सीन प्रदान करा रहा है। अब तक भूटान, नेपाल सहित कई देश भारत का यह गिफ्ट प्राप्त कर चुके हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव के मुताबिक, भारत अफ्रीका को कोरोना वैक्सीन की एक करोड़ डोज देने की तैयारी कर रहा है। इसके अलावा कोवैक्स के तहत संयुक्त राष्ट्र के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए भी कोरोना वैक्सीन की 10 लाख डोज दी जाएंगी।

क्या बोले ब्रिटिश प्रधानमंत्री ?

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि देश में नोवावैक्स वैक्सीन के सभी ट्रायल्स कामयाब रहे हैं। जॉनसन ने कहा कि मेरे पास एक अच्छी खबर है। हमारे यहां नोवावैक्स वैक्सीन के ट्रायल्स चल रहे थे, ये काफी कामयाब साबित हुए हैं। इन ट्रायल्स में हिस्सा लेने वाले सभी लोगों का शुक्रिया। हमारा रेग्युलेटर अब वैक्सीन को मंजूरी दे सकता है। अगर इसे मंजूरी मिलती है तो हम 6 करोड़ वैक्सीन का ऑर्डर देंगे। हेल्थ मिनिस्टर मैट हनूक ने इस बड़ी जीत बताया। ट्रायल्स के दौरान इस वैक्सीन को 89.3 फीसदी इफेक्टिव पाया गया है। गुरुवार को ही यह रिजल्ट्स जारी किए गए हैं।

चीन श्रीलंका को 3 लाख डोज डोनेट करेगा

भारत के कई देशों को वैक्सीन सप्लाई किए जाने के बाद चीन भी इस राह पर चल पड़ा है। वह श्रीलंका को 3 लाख डोज डोनेट करेगा। गुरुवार को ही भारत ने भी श्रीलंका को वैक्सीन के 5 लाख और बहरीन को एक लाख डोज भेजे हैं।

Leave a Reply