Wednesday , September 28 2022

एडवांस सर्विलांस सिस्टम के तहत ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन कैमरे में क़ैद होगी गाडी

वाराणसी। योगी सरकार की योजनाएं आम जनता के लिए काफी उपयोगी साबित हो रही है। यूपी को अपराध व भय मुक़्त करने के लिए सरकार हर कदम उठा रही है। योगी सरकार पीएम के निर्वाचन क्षेत्र में एडवांस सर्विलांस सिस्टम के तहत ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन कैमरे लगा दी है। जिससे शहर में प्रवेश और बाहर जाने वाली गाड़ियों पर नज़र रखा जा सके। एएनपीआर सॉफ्ट वेयर किसी भी गाड़ी को पलक झपकते की शहर के किसी भी कोने से खोज निकालता है। जिससे अपराधियों का बच पाना अब मुश्किल होगा।

स्मार्ट सिटी के मुख्य महाप्रबंधक डॉ.डी वासुदेवन ने बताया कि कोई भी अपराधी यदि गाडी से वाराणसी की सीमा में प्रवेश करता है ,भागना चाहता है या शहर में घूम रहा है, तो वे पल भर में पकड़ा जा सकता है। वाराणसी के सीमा में प्रवेश करते ही वे तीसरे नेत्र की नज़र में कैद हो जाएगा। इसके बाद शहर के किसी भी कोने में वे छिपा होगा तो उसे मिनटों में खोजा जा सकता है। शहर के अंदर भी यदि कोई अपराध करता है तो उसके गाड़ी का नंबर भी सॉफ्टवयेर में डाल देने पर वे किन रास्तो से गुजर रहा है इसका अलर्ट कण्ट्रोल रूम को मिलता रहेगा। इसके लिए 23 लोकेशन पर 108 ऑटोमैटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन कमरे लागए गए है। इसके अलावा ये सॉफ्टवेयर सेकड़ो में किसी भी गाडी की हिस्ट्री निकाल लेने में भी सक्षम है।
​​
डॉ.डी वासुदेवन ने बताया कि एडवांस सर्विलांस सिस्टम के तहत 400 किलोमीटर तक ऑप्टिकल फाइबर बिछाया गया है। जिसमें 720 लोकेशन पर 2183 अत्याधुनिक कैमरे लगाए गए है। ऑटोमेटिक नंबर प्लेट रिकग्निशन , फेस रिकग्निशन कैमरा ,स्पीड वैलेशन ,ट्रिपलिंग अलर्ट यातायात और कानून व्यवस्था के लिए एडवांस सर्विलांस सिस्टम कारगर साबित हो रहा है। जो काशी इंटीग्रेटेड कमांड कण्ट्रोल सेण्टर से जुड़ा है। पुलिस कर्मी लाइव फीड व्यूइंग सेण्टर में देख कर आवश्यक कार्यवाही सकते है। एडवांस सर्विलांस सिस्टम का प्रोजेक्ट 128 करोड़ की लगात से पूरा हुआ है।