Saturday , August 13 2022

आजमगढ़ में पैदल चलने को मजबूर हुए तहसीलदार, पढ़ें क्या है मामला

आजमगढ़ : उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में तहसील में तैनात सभी तहसीलदारों की समस्या बढ़ती जा रही है. वजह ये है कि सभी तहसीलदार पैदल चलने पर मजबूर हो गए हैं. ऐसे में बिना किसी वाहन के अधिकारीयों के लिए राजस्व वसूली समेत अन्य कार्य करना संभव नहीं होगा.

बता दें कि जिले में सदर, निजामाबाद, सगड़ी, लालगंज, मेंहनगर, फूलपुर, बूढ़नपुर, मार्टीनगंज कुल आठ तहसील हैं. इन तहसीलों में तैनात सभी तहसीलदारों को सरकार ने चलने के लिए सात सीटर वाहन अनुबंध (Contract) पर लिया था. इसी वाहन से नायब तहसीलदार क्षेत्र में भ्रमण करके राजस्व की वसूली, बकाएदारों द्वारा रुपये न जमा करने पर उन्हें पकड़कर हवालात में भी डालना, वहीँ कई अन्य विवादों को सुलझाने में भी ये वाहन काफी कारगर साबित होने हैं. अब चार दिन पूर्व ही इन सभी गाड़ियों का कॉन्ट्रैक्ट खत्म होने पर वाहन मालिकों ने इन्हें वापस बुला लिया है. जिसके बाद से सभी तहसीलदार पैदल चलने पर मजबूर हो गए हैं. हालात ये हैं कि राजस्व वसूली सहित तमाम कार्य थप हो गए हैं.

समस्या का समाधान करने के लिए जिला प्रशासन जुटा हुआ है. वाहन की उपलब्धता के लिए रिपोर्ट तैयार कर राजस्व परिषद् को भेजी गई है. वहां से अनुमति मिलने के बाद आगे की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा.

Leave a Reply