Saturday , October 1 2022
Video : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागपुर में किया नए IIM परिसर का उद्घाटन
Video : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागपुर में किया नए IIM परिसर का उद्घाटन

Video : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागपुर में किया नए IIM परिसर का उद्घाटन

नागपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नागपुर में नए IIM परिसर का उद्घाटन किया। इस दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और धर्मेंद्र प्रधान और महाराष्ट्र के मंत्री नितिन राउत और सुभाष देसाई भी मौजूद थे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि मुझे विश्वास है कि यह सिर्फ शैक्षणिक प्रशिक्षण मैदान न रहकर छात्रों को जीवन जीने का नया नज़रिया भी देगा। मैं केंद्र और राज्य सरकार को बधाई देता हूं। हम ऐसे युग में रह रहे हैं जहां इनोवेशन और एंटरप्रेन्योरशिप को सराहा और प्रोत्साहित किया जाता है। मेरा दृढ़ विश्वास है कि हमारी बेटियों को जब भी एक पर्याप्त मंच प्रदान किया जाता है, तो वे हमेशा सर्वश्रेष्ठ के लिए चमकती हैं। यह सावित्रीबाई फुले और डॉ आनंदीबाई जोशी की भूमि के लिए एक सच्ची श्रद्धांजलि है, जो शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में पहले कुछ दिग्गज थे।
उन्होंने कहा नए संस्थान के लिए मैं केंद्र व राज्य सरकार को बधाई देता हूं। हम एक ऐसे युग में रह रहे हैं, जहां इनोवेशन और एंटरप्रेन्योरशिप को प्रोत्साहित किया जाता है। उम्मीद है यह संस्थान छात्रों को ऐसी मानसिकता देगा, जिससे वे नौकरी करने वाले नहीं नौकरी देने वाले बनेंगे। इस दौरान केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और धमेंद्र प्रधान के अलावा महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नितिन राउत व सुभाष देसाई भी मौजूद रहे।
यह कैंपस महाराष्ट्र के नागपुर स्थित दाहेगांव मौजा में बनाया गया है। इस कैंपस में कई नई सुविधाओं को जोड़ा गया है, जिससे कक्षा के अंदर और बाहर दोनों जगह सीखने की सुविधा प्रदान की गई है। बता दें कि वर्ष 2015 में इस संस्थान की नागपुर में शुरुआत हुई थी।
बता दें कि आइआइएम नागपुर का पहला कैंपस बजाज नगर स्थित वीएनआईटी के परिसर में था। राज्य सरकार ने आइआइएम को स्थायी कैंपस के लिए दहेगांव में 132 एकड़ जमीन दी जिसके बाद यह अब बनकर तैयार है। वहीं सुविधाओं की बात करें तो यहां पहले चरण में 600 विद्यार्थी क्षमता की सुविधाएं 60 हजार वर्ग मीटर में तैयार की गई हैं। इस कैंपस में एकेडमिक काम्प्लेक्स, लाइब्रेरी और फैकल्टी हाउसिंग जैसी सुविधाएं हैं। गौरतलब है कि इस नए कैंपस का शिलान्यास वर्ष 2019 को 6 मार्च को किया गया था।