Monday , September 26 2022

वोडाफोन आइडिया ने कहा, उद्योग को नियमित अंतराल पर टैरिफ बढ़ाने की जरूरत

नयी दिल्ली। दूरसंचार परिचालक वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने कहा कि उद्योग को नियमित अंतराल पर मोबाइल टैरिफ बढ़ाने की जरूरत है। कंपनी का कहना है कि टैरिफ अभी भी काफी कम हैं और बढ़ोतरी से इसे उचित प्रतिफल पाने तथा भविष्य में निवेश करने में मदद मिलेगी। आदित्य बिड़ला समूह और वोडाफोन समूह के संयुक्त उद्यम ने कहा कि प्रति उपयोगकर्ता राजस्व ऐतिहासिक रुझानों की तुलना में कम है। पिछले साल सरकार द्वारा इस क्षेत्र को राहत पैकेज देने के बाद कंपनी को नयी जिंदगी मिली थी।

सभी तीन निजी दूरसंचार परिचालकों – रिलायंस जियो, भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया लिमिटेड (वीआईएल) ने पिछले साल में डेटा के लिए शुल्क बढ़ाया है। इन कंपनियों के प्रति उपयोगकर्ता औसत राजस्व (एआरपीयू) में भी बढ़ोतरी हुई है। वीआईएल ने अपनी नवीनतम वार्षिक रिपोर्ट में कहा, ‘‘उद्योग अभी भी अनिश्चित रूप से कम टैरिफ पर चल रहा है।’’

कंपनी ने आगे कहा, ‘‘भारत में आज भी वैश्विक स्तर पर सबसे कम टैरिफ है, जबकि असीमित डेटा पैक के चलते भारत दुनिया में सबसे अधिक डेटा उपयोग (प्रति ग्राहक) करने वाले देशों में शामिल है।’’ वीआईएल ने कहा, ‘‘इस प्रकार कंपनी का मानना ​​​​है कि उद्योग को नियमित अंतराल पर टैरिफ बढ़ाना होगा, जो परिचालकों के लिए अपनी पूंजी पर उचित प्रतिफल पाने और नयी प्रौद्योगिकियों सहित भविष्य के निवेश का समर्थन करने के लिए जरूरी है।