Friday , July 1 2022

World Hand Wash Day: कोरोना से बचना है तो अपने हाथों को समय-समय पर धोएं

लखनऊ: आज विश्व हैंडवॉश दिवस मनाया जा रहा है. इस दिन को मनाने का मकसद यही है कि लोगों को हाथ धोने के महत्त्व के बारे में जागरूक किया जा सके. और चूंकि हाथ धोने और निरंतर हाथों की सफाई बनाए रखने से बहुत सी बीमारियों से बचा जा सकता है इसलिए हाथ धोने के महत्त्व को सभी को जानना जरूरी भी है. आज पूरी दुनिया कोरोना वायरस की चपेट में आ चुकी है. कोरोना वायरस की कोई दवा या वैक्सीन ना होने की वजह से बचाव ही रोकथाम माना जा रहा है. मास्क पहनने के साथ ही हाथ धोना कोरोना से बचने का कारगर उपाय है. इस साल की थीम है.

सैनिटाइजर की तुलना में साबुन का इस्तेमाल करना है बेहतर

आज के समय में बहुत से डॉक्टरों का मानना है कि सैनिटाइजर की तुलना में साबुन का इस्तेमाल करना कहीं बेहतर है. वर्तमान में वायरस से निपटने और उसके बाद भी साबुन से हाथ धोना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए. कोविड-19 ने हमें अपने स्वास्थ की सुरक्षा के लिए सचेत रहना सिखा दिया है. आने वाले वक्त में हमें इस आदत को ऐसे ही बनाए रखना है.

20 सेकेन्ड तक साबुन से हाथ धोना बचा सकता है बीमारी से

ज्यादातर डॉक्टरों की सलाह यही है कि सैनिटाइजर का प्रयोग आवश्यकता पड़ने पर ही करें. 20 सेकेन्ड तक साबुन से हाथ धोना आपको अनगिनत बीमारियों से बचा सकता है. हाथ गंदे होने पर सैनिटाइजर से हाथों की त्वचा खराब होने का खतरा बढ़ जाता है. त्वचा पर पड़ने वाली दरारों से वायरस के शरीर में प्रवेश करने की संभावना भी बढ़ जाती है. डॉक्टरों का कहना है कि जहां तक संभव हो साबुन और पानी का ही प्रयोग करें. यदि साबुन नहीं है तो ही सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.

Leave a Reply