Friday , May 27 2022
योगी के मंत्री बोले- मदरसे में शिक्षा अल्पसंख्यक समाज के लिए बहुत जरूरी, ओवैसी भड़के
योगी के मंत्री बोले- मदरसे में शिक्षा अल्पसंख्यक समाज के लिए बहुत जरूरी, ओवैसी भड़के

योगी के मंत्री बोले- मदरसे में शिक्षा अल्पसंख्यक समाज के लिए बहुत जरूरी, ओवैसी भड़के

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सभी मदरसों में अब राष्ट्रगान अनिवार्य कर दिया गया है। यूपी एजुकेशन बोर्ड ने यह आदेश जारी किया है। इसको लेकर यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री दानिश आजाद का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि मदरसा में शिक्षा हमारे अल्पसंख्यक समाज के लिए बहुत ज़रूरी है। जब वहां से राष्ट्रगान होगा तो वहां पढ़ने वाला बच्चा समाज के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएगा। हमारी सरकार मदरसा में शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाने का प्रयास कर रही है। पिछले 5 सालों में हमने मदरसों को आधुनिकीकरण से जोड़ा है। मदरसों में हम स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में पाठ्यक्रम को भी जोड़ रहे हैं।
उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री दानिश आजाद सरकार मदरसा में शिक्षा व्यवस्था को और बेहतर बनाने का प्रयास कर रही है। पिछले 5 सालों में हमने मदरसों को आधुनिकीकरण से जोड़ा है। मदरसों में हम स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में पाठ्यक्रम को भी जोड़ रहे हैं। वहीं, बीजेपी नेता मोहसिन रजा ने भी इसका स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि इससे बच्चों में देश के प्रति प्यार बढ़ेगा। यह अनुशासन और देशभक्ति की सीख देगा।
बता दें, उत्तर प्रदेश मदरसा एजुकेशन बोर्ड के रजिस्ट्रार एसएन पांडे ने इसे लागू कराने के लिए सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को 9 मई को एक आदेश जारी किया था। अधिकारियों ने गुरुवार को ये जानकारी दी कि सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाना अब अनिवार्य किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, 24 मार्च को बोर्ड मीटिंग के दौरान ये निर्णय लिया गया। इसमें प्रार्थना के दौरान सभी मदरसों में राष्ट्रगान अनिवार्य करने का फैसला किया गया। सभी मदरसों में रमजान के बाद 12 मई से नियमित कक्षाएं शुरू हो गई हैं। यह आदेश आज से ही प्रभावी हो गया। आदेश में कहा गया है कि कक्षाएं प्रारंभ होने से पहले शिक्षकों और छात्रों द्वारा राष्ट्रगान गाया जाएगा, यह सभी मान्यता प्राप्त, वित्तीय सहायता प्राप्त और गैर वित्तीय सहायता प्राप्त मदरसों में लागू होगा।

ओवैसी बोले- आजादी की लड़ाई RSS ने नहीं, मदरसों ने लड़ी

उत्तर प्रदेश के मदरसों में राष्ट्रगान अनिवार्य किए जाने के फैसले पर राजनीतिक प्रतिक्रियाएं भी सामने आने लगी हैं। AIMIM के चीफ और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने इस फैसले को लेकर यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) पर निशाना साधा है। ओवैसी ने कहा है कि जब आजादी की लड़ाई लड़ी जा रही थी, तो इसमें संघ परिवार नहीं बल्कि मदरसे शामिल थे।
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद के रजिस्ट्रार एसएन पांडेय ने राज्य के सभी जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारियों को पत्र जारी करते हुए लिखा कि मदरसों में अन्य दुआओं के साथ अनिवार्य रूप से राष्ट्रगान भी होगा। पत्र के मुताबिक, यह फैसला 24 मार्च 2022 को हुई बैठक में ही लिया गया था।
इसपर प्रतिक्रिया देते हुए ओवैसी ने न्यूज एजेंसी एएनआई संग बातचीत में कहा कि 15 अगस्त और 26 जनवरी को सभी मदरसों में देशभक्ति की बातें होती हैं. उन्होंने आगे कहा, ‘मदरसों में देश से प्रेम की शिक्षा दी जाती है। आप उन्हें (मदरसों को) संदेह से देखते हो, यही वजह है कि आप ऐसे कानून बना रहे हो।
ओवैसी यहीं नहीं रुके, लगे हाथों उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ, बीजेपी और संघ को निशाने पर भी ले लिया। ओवैसी ने कहा, योगी आदित्यनाथ और बीजेपी मुझे देशभक्ति का सर्टिफिकेट न दे. जब देश की आजादी की लड़ाई लड़ी जा रही थी, तो संघ परिवार इस लड़ाई में शामिल नहीं था। ये मदरसे ब्रिटिशों के खिलाफ खड़े हुए।