Wednesday , August 10 2022
ऑस्ट्रेलिया के गढ़ में लहराया तिरंगा, सीरीज जीतकर यंगिस्तान ने रचा कीर्तिमान
ऑस्ट्रेलिया के गढ़ में लहराया तिरंगा, सीरीज जीतकर यंगिस्तान ने रचा कीर्तिमान

ऑस्ट्रेलिया के गढ़ में लहराया तिरंगा, सीरीज जीतकर यंगिस्तान ने रचा कीर्तिमान

ब्रिस्बेन। टीम इंडिया ने ब्रिस्बेन टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हराकर नया कीर्तिमान रच दिया। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में अपना सबसे बड़ा 328 रन का टारगेट चेज किया और चौथा टेस्ट जीतकर 2-1 से सीरीज अपने नाम कर ली। इससे पहले भारत ने 2003 के एडिलेड टेस्ट में 233 रन का सबसे बड़ा टारगेट चेज किया था। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने टीम इंडिया के लिए 5 करोड़ रुपए के बोनस की घोषणा की।

टीम इंडिया ने ब्रिस्बेन के गाबा मैदान पर पहला टेस्ट जीता है। इस टेस्ट से पहले टीम इंडिया ने यहां 6 टेस्ट खेले थे, जिसमें से 5 हारे और एक ड्रॉ हुआ। गाबा में पहली बार किसी टीम ने 300 से ज्यादा रणों का टारगेट चेज किया है। इससे पहले यहां ऑस्ट्रेलिया ने नवंबर 1951 में वेस्टइंडीज के खिलाफ सबसे बड़ा 236 रन का टारगेट चेज किया था। मेजबान ऑस्ट्रेलिया 32 साल बाद ब्रिस्बेन में पहली बार टेस्ट हारी है। पिछली बार ब्रिस्बेन में नवंबर 1988 में वेस्टइंडीज ने उसे 9 विकेट से हराया था। 1988 के बाद ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिस्बेन में 31 टेस्ट खेले थे, जिसमें से 24 जीते और 7 ड्रॉ रहे।

भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को लगातार तीसरी बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में शिकस्त दी है। इससे पहले भारत ने फरवरी 2017 और दिसंबर 2018 में खेली गई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में शिकस्त दी थी। टीम इंडिया ने पिछली बार 2018 में ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में 3-1 से शिकस्त दी थी। टीम की ऑस्ट्रेलिया में यह पहली टेस्ट सीरीज जीत थी। अब यह भारत की ऑस्ट्रेलिया में दूसरी टेस्ट सीरीज में जीत है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में अब तक 13 में से 8 सीरीज हारीं, 2 जीती और 3 ड्रॉ खेली हैं।

ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 294 रन बनाए

मैच में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए 369 रन बनाए थे। जवाब में टीम इंडिया सिर्फ 336 रन ही बना सकी। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 294 रन बनाए। पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को 33 रन की बढ़त मिली थी। इस आधार पर 328 रन का टारगेट दिया था। इसके जवाब में टीम इंडिया ने 7 विकेट गंवाकर 329 रन बनाते हुए मैच जीत लिया।

पंत ने नाबाद रहते मैच जिताया

ऋषभ पंत 89 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को मैच जिताया। साथ ही वे सबसे कम टेस्ट पारियों में एक हजार रन बनाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बन गए हैं। इस मामले में उन्होंने पूर्व विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ दिया। पंत ने 27 पारियों में यह उपलब्धि हासिल की, जबकि धोनी ने 32 पारी खेली थीं।

शुभमन ने तोड़ा गावस्कर का रिकॉर्ड

शुभमन चौथी पारी में फिफ्टी लगाने वाले सबसे युवा भारतीय ओपनर बन गए। उन्होंने पूर्व भारतीय ओपनर सुनील गावस्कर का 50 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। फिलहाल, शुभमन की उम्र 21 साल और 133 दिन है। वहीं, गावस्कर ने 21 साल और 243 दिन की उम्र में यह उपलब्धि हासिल की थी। पूर्व लेजेंड ने 1970 में वेस्टइंडीज के खिलाफ पोर्ट ऑफ स्पेन में खेले गए टेस्ट में फिफ्टी लगाई थी।

ऋषभ पंत मैन ऑफ द मैच रहे

ऋषभ पंत ने 89 रन की नाबाद पारी खेलकर टीम को मैच जिताया। पहली पारी में उन्होंने 23 रन की पारी खेली थी। उन्हें मैन ऑफ द मैच चुना गया। वहीं, ब्रिस्बेन टेस्ट में तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज दोनों पारी में 6 विकेट लिए। दूसरी पारी में उन्होंने 5 विकेट लिए थे, जो उनका बेस्ट प्रदर्शन रहा।

पीएम मोदी ने टीम को बधाई दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोशल मीडिया के जरिए भारतीय टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि भारतीय क्रिकेट टीम की ऑस्ट्रेलिया में जीत से हम सभी बेहद खुश हैं। खिलाड़ियों की विशेष ऊर्जा और जुनून पूरे समय नजर आया। उन्होंने कड़ी मेहनत की, साहस और संकल्प दिखाया। टीम को बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं।

Leave a Reply